Tuesday, 26 April 2016

How to get rich by Sandeep Maheshwari in Hindi


  How to get rich by Sandeep Maheshwari  

Sandeep Maheshwari
How to get rich
इस दुनिया में इतनी opportunities है की जिसकी कोई हद नहीं है पर लोग उसको देख ही नहीं पते , कुछ लोग उसको देख तो लेते हैं पर उसके according एक्ट नहीं कर पाते ,कुछ एक्ट तो कर पाते है पर smartly act  नहीं कर पाते  hard work  करते रह जाते है जिससे उन्हें उतनी success नहीं मिल पाती  जितनी मिल सकती है.

इंडिया में इस वक़्त बहुत opportunities है, आपके दिमाग में यह आ जाए में कुछ कर सकता हु , अगर ये नहीं आया तो अपनी ही problems में उलझ कर रह जाओगे  पूरी ज़िंदगी ऐसे ही गुजार दोगे, और अपने बच्चों से भी यही बोलोगे की ज़िंदगी बहुत मुस्किल है

मान लो अगर हमे किसी room की छत  को छूना है तो क्या करना होगा imagination  से छत को नहीं छुए जा सकता , possibilities  ढूंढनी पड़ेगी कोई सीढ़ी हो आस पास या कोई टेबल जिसके ऊपर चढ़कर छत को छू सके.
अब सोचेंगे हम छत को कैसे छू पाए इमेजिनेशन से नहीं reality की समझ होने से , दिमाग को खुला रखकर सोचने से .
आँख खोलकर देखो की आपके आस पास क्या क्या opportunities है। दुनिया में जो भी चीज़ हैं जो आदमी ने बनायीं है शर्ट, मशीन , पेन , चेयर आदि ये सब पहले possibilities   थी बाद में reality  बनी  । किसी न किसी के दिमाग में एक ख्याल आया की ऐसा किया जा सकता है और रियलिटी बन गयी । आप किसी कुर्सी पर बैठे हो वह बहुत हार्ड है आपको बहुत दिक्कत होती है उससे ,आप उसको improve करने के लिए कुछ सोचो ही नहीं उसी से चिपके रहो ।problem को तो देखा पर solution सोचा ही नहीं तो ज़िंदगी में कामयाब नहीं हो पाओगे ।

दूसरा केस है- mind को एक बार कुछ भी सोचने का मौका दे दो वो कुछ भी उटपटांग सोचता रहता है में एक ऐसी कुर्सी बनाऊंगा जो आसमान में बादलों से बनी होगी । क्या ये इस लाइफ में पॉसिबल है???

अब इस प्रॉब्लम का solution है की में सोचु की इस कुर्सी को कैसे better बनाया जा सकता है और सही से सोचकर एक्शन लो।
समझना होगा possibilities  को देखते कैसे हैं
आज कल सब मोबाइल फ़ोन use कर रहे हैं मोबाइल ख़राब भी होते हैं , हर महीने करोडो मोबाइल  सही भी होते हैं अगर हम मोबाइल रेपरिंग की दुकान खोल ले और ईमानदारी से काम करें तो क्या हमरा काम चलेगा नहीं?

दूसरा आईडिया है खिलोनो की दुकान वो भी चाइल्ड स्पेसलिलस्ट के पास और उसके साथ दुकान में अ|ने वाले बच्चों को फ्री में balloon दो तुम्हारी दुकान hit हो जाएगी
सोचो अभी में क्या कर सकता हु best case और worst case   को देखो और करते चलो

                              "आसान है आसान है आसान है"

और अपने से कहे इस रस्ते पर चलकर अगर में सफल हो गया तो उस पैसे को अपने तक नहीं रखूँगा उसको शेयर करूँगा उनके साथ जिनको इनकी मेरे से ज़्यदा ज़रूरत है ।